Lifestyle Travel

अर्ध कुम्भ मेला ने बदली प्रयागराज की काया

धार्मिक कुम्भ मेला १५ जनवरी से शुरू हो रहा है जो की ५ मार्च तक चलेगा । यह मेला विश्व में होने वाला सबसे बड़ा मेला है जहाँ दूर दूर से लोग आते हैं । इस मेले  के लिए अब तक सरकार ७००० करोड़ से ज्यादा रुपये खर्च कर चुकी है , जिसमे २८०० करोड़ रूपये मेला स्थल और उसके आयोजन के लिए , २४७ करोड़ रुपये कण्ट्रोल सेंट्रल और मेला क्षेत्र में सुरक्षा व्यवस्था बनाये रखने के लिए और ४३०० करोड़ रुपये मेला तथा शहर के विकास और आधारिक संरचना के लिए खर्च किये गए हैं ।

प्रयागराज में किये गए विकास और आधारिक संरचनाये लम्बे अर्से के लिए हैं , यह सभी बदलाव यात्रियों के सुविधा के लिए किये गए हैं और सभी बदलावों की सुविधा लम्बे अर्से तक यहाँ के लोगों को प्राप्त होगी। अब तक  ९ फ्लाईओवर बन चुके है , ६ नयी रेलवे सुरंग तैयार की गयी हैं और ९ रेलवे स्टेशन को उत्तमतर बनाया गया है । लगभग ६४ ट्रैफिक क्रासिंग और २६० सड़कें बनायीं गयी हैं । इसके साथ साथ प्रयागराज सिविल एयरपोर्ट पर एक नए टर्मिनल का निर्माण हुआ है और नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया ने ३ हाइवेज ;प्रयागराज -प्रतापगढ़ हाईवे , रायबरेली -प्रयागराज हाईवे और वाराणसी -प्रयागराज हाईवे का पुनःनिर्माण किया और उत्तमतर बनाया है ।

माह चलने वाले कुम्भ मेला से करीबन लाख से जायदा लोगों को रोज़गार मिलेगा , छोटे व्यापारियों से लेकर बड़े व्यापारियों को लाभ मिलेगा उत्तरप्रदेश सरकार ने इनलैंड वाटरवे के लिए फेरियों की भी व्यवस्था की है , इससे नावचालकों की आय में बहुत बढ़ोतरी होगी छोटी व्यापारी जैसे दूकानदार , नावचालकों , नाई सभी अपनी कीमतें दोगुना-तिगुना कर देंगे  जिससे इनकी आय भी तीनगुना हो जायेगी । रेस्टुरेंट , होटल्स की भी चांदी होंगी , सभी अपनी कीमतें बढ़ा  देंगे।

AUTHOR : UPASANA VERMA

 

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *