Health

अजन्मे शिशु को गर्भ से निकालकर फिर से गर्भ में प्रस्थापित किया !

२६ वर्षीया ब्रिटिश महिला बेथन सिम्पसन के गर्भ से अजन्मे शिशु को बाहर निकाल कर उसका इलाज़ करके शिशु को फिर से गर्भ में प्रस्थापित किया गया । बेथन सिम्पसन और कीरोन सिम्पसन की अजन्मी बच्ची Spina bifida नाम के रोग से ग्रसित थी , यह रोग जन्म के समय शिशुओं में होता है । इस रोग में शिशु के रीढ़ की हड्डी या मेरु रज्जु में दरार युक्त घेरा बन जाता है,  यह दोष भ्रूण के न्यूरल ट्यूब के पूरा बंद न होने से होता है।

यह समस्या बच्चे के चलने और अन्य क्रियाओं में मुश्किल पैदा करता है । बेथन सिम्पसन , Burnham , Essex को डॉक्टर ने २० सप्ताह के गर्भ के बाद इस समस्या के चलते बच्चे को गिराने के लिए कहा लेकिन बेथन सिम्पसन और कीरोन सिम्पसन ने foetal repair चुना। बेथन सिम्पसन इस तरह की सर्जरी करने वाली UK प्रथम महिला बनी। अभी तक इस तरह की सर्जरी बेल्जियम और यूनाइटेड स्टेट्स में होते थे।

ऑपरेशन से पहले Amniotic test , fluid test ,MRI और विभिन्न स्कैन किये गए और २४ वे सप्ताह में सर्जन ने भ्रूण को निकालकर इलाज़ करके पुनः गर्भ में प्रस्थापित किया। यह ऑपरेशन ८ जनवरी को University College Hospital, London में बेल्जियम और ब्रिटिश डॉक्टर्स द्वारा किया गया। इस बीमारी संबंधित जागरूकता बढ़ाने के लिए बेथन SHINE, Spina Bifida Hydrocephalus information networking and Equality चैरिटी के लिए पैसे जुटा रही हैं।

AUTHOR : UPASANA VERMA

 

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *